सुभाषचंद्र बोस जयंती पर 551 फीट लम्बे तिरंगे को शहीद भगत सिंह के पौत्र ने दिखाई हरी झण्ड़ी

न्यूज़ 24 एनसीआर। गुड़गांव
स्वतंत्रता सेनानी  सुभाष चंद्र बोस जयन्ती पर  551 फीट लम्बे तिरंगे ध्वज को लेकर भव्ययाञा निकाली गई जिसमें विभिन्न स्कूलों के लगभग 1500 बच्चों समेत शहर के विभिन्न संगठनों के सैकड़ो राष्ट्रभक्त शामिल हुए । याञा का शुभारंभ हरियाणा युवा आयोग के निदेशक शहीद भगत सिंह के पौञ यादवेन्द्र सिंह संधू ने हरी झण्ड़ी दिखाकर किया।         भीमनगर रामलीला मैदान में विभिन्न दो दर्जन संगठनों जिसमें अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल , संस्कृति के सारथी,  , राजपूताना स्पोर्टस फाऊण्ड़ेशन, नमो सेना हरियाणा , क्राइम फ्री इण्ड़िया फोर्स , सुदर्शन राष्ट्र निर्माण ,  मेजर दीन दयाल स्मृति न्यास , आर ड़ब्ल्यू ए अशोक विहार , संतोंष सेवा संस्थान , आल इण्ड़िया स्पोर्ट एण्ड कल्चरल फैड़रेशन, शिव सेना, बजरंग दल , विहिप , शहीद भगत सिंह यूथ ब्रिगेड,  मानवता फाउंडेशन, भारत माता वाहिनी, राष्ट्रीय हिन्दू संघ, मंथन जनसेवा समिति,फरिश्ते ग्रुप , दीपशिखा एन जी ओ, हिन्दू भगवा वाहिनी तथा अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल  युवा मोर्चा जैसे विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि एकञ हुए ।शहर के दर्जनों स्कूल  के 1200 से भी अधिक बच्चे जोरदार देशभक्ति के नारे लगाते हुए कार्यक्रम स्थल पर पहुँचे। राजपूताना स्पोर्ट फाऊण्ड़ेशन के अध्यक्ष नरेन्द्र चौहान तथा नमो सेना हरियाणा के अध्यक्ष गगनदीप चौहान 551 फीट लम्बे तिरंगे ध्वज को अपने साथियों के साथ नीमराणा राजस्थान से सम्मानपूर्वक लेकर पहुँचे।याञा को हरी झण्ड़ी दिखाकर शुरूआत करते हरियाणा युवा आयोग के चैयरमैन तथा शहीद भगत सिंह जी के पौञ यादवेन्द्र सिंह सन्धू ने कंहा कि “नेताजी सुभाष चंद्र बोस” भारतीय इतिहास के ऐसे व्यक्तित्व हैं, जो प्रकृति से साधु, ईश्वर भक्त तथा तन एवं मन से एक महान देशभक्त थे और नेता ऐसे कि आज भी एकमात्र उन्हें ही नेताजी के नाम से जाना जाता है। आज जब देश में नेता शब्द की गरिमा घटी है, समाज में नेता का मतलब भ्रष्ट समझा जाता है। ऐसे में देश के असली नेता,”नेताजी सुभाष चंद्र बोस” का स्मरण होता है, जो देश के वास्तविक नेता थे। नेता जी के गनर जगराम जी भी इस आयोजन मे शामिल रहे । शहीद भगत सिंह के पोञ यादवेंद्र सिंह सन्धु ने झण्डी देकर रवाना किया। याञा में रिटायर्ड मेजर जनरल तथा सेना से जुड़े  कर्नल आर सी चड्डा  ,कर्नल कंवर भारद्वाज ,कर्नल संतपाल राघव , सूबेदार मेजर रामनिवास शर्मा समेत पचास के लगभग सेना के जवान शामिल हुए इसके अलावा  स्टारैक्स यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर ड़ा अशोक दिवाकर, जिला बार संघ के पूर्व अध्यक्ष कुलभूषण भारद्वाज , पूर्व इंकम टैक्स कमिश्नर प्रवीण चन्द्रा वशिष्ठ, बोधराज सीकरी , अभय जैन , अनिल कश्यप,   भी अपने सैकड़ों साथियों के साथ याञा में शामिल हुए। याञा के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों के साथ ही यातायात पुलिस की अतिरिक्त मौजूदगी रही। याञा के साथ निजी अस्पतालों की दो एम्बुलैंस भी साथ रही । याञा का संचालन संस्कृति के सारथी के अध्यक्ष रामबहादुर सिंह तथा अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल के राष्ट्रीय प्रभारी राजीव मित्तल ने संयुक्त  रूप से किया तथा याञा में मुख्य रूप से नरेन्द्र चौहान, ड़ा. धर्मेन्द्र यादव, चेतन शर्मा , गगनदीप चौहान , वेद सैनी, अतर  सिंह सन्धू , अनिल आर्य, अर्जुन वशिष्ठ, सत्यप्रताप , गिरीश सिंगला , मदन सोनी , आर पी सिंह चौहान , आदर्श वर्मा आदि मौजूद रहे