सिंगापुर की मशीन से होगा फरीदाबाद के लोगो का ईलाज, ईएसआई मेडिकल कालेज में लगेगी मशीन।

News24NCR/Faridabad: ईएसआइसी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल जल्द ही विश्व स्तरीय सुविधाओं वाली कैथ लैब से सुसज्जित होगी। कैथ लैब में सिंगापुर से अत्याधुनिक मशीन मंगवा कर स्थापित की जाएंगी। इसके लिए ईएसआइसी मेडिकल कालेज प्रबंधन ने दिल्ली स्थित मुख्यालय काे पत्र लिखा है। कैथ लैब का निर्माण होने के बाद हृदय रोग से पीड़ित मरीज निजी अस्पताल में रेफर नहीं किए जाएंगे। 

कैथ लैब स्थापित होने से करीब आठ लाख श्रमिक लाभान्वित होंगे। प्रबंधन का दावा है कि एम्स दिल्ली की तर्ज पर ईएसआइसी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल की कैथ लैब बनाई जाएगी और एनसीआर के निजी अस्पतालों से बेहतर और अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण होगी।

यह मिलेगी सुविधाएं ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज में स्थापित होने वाली कैथ लैब में एंजियोप्लास्टी और एंजियोग्राफी, हृदय की पूरी जांच व स्टंट, पेस मेकर भी डलवा सकेंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि दिसंबर में कैथ लैब मरीजों के लिए शुरू कर दी जाएगी। 

तृतीय तल पर स्थापित होगी कैथ लैब 

ईएसआइसी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल के तृतीय तल पर अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण आपरेशन थियेटर है। इसके लिए तृतीय तल पर ही कैथ लैब को विकसित किए जाने की योजना है।

रेफरल मामलों की भी होगी रोकथाम ईएसआइसी मेडिकल कालेज के पास कैथ लैब नहीं होने से प्रत्येक महीने 50 से अधिक मरीजों को निजी अस्पतालों में रेफर किया जाता है। इससे सरकार पर आर्थिक बोझ बढ़ता है। मेडिकल कालेज में कैथ लैब बनने के बाद मरीजों को रेफर नहीं किया जाएगा। 

हमने कैथ लैब का प्रस्ताव बनाकर भेजा था, इसे अब मंजूरी मिल गई है। एम्स दिल्ली के बाद एनसीआर में ईएसआइसी मेडिकल कालेज के पास आधुनिक सुविधा युक्त कैथ लैब होगी।

– डा. एके पांडे, डिप्टी डीन, ईएसआइसी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल