दुनिया डगमगा रही थी, लेकिन भारत जगमगा रहा था, संकट कि घड़ी में लोगो ने दिया एकजुटता का परिचय।

News24NCR/Faridabad: कोरोना के खिलाफ़ जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर आज रात्रि 9 बजे पूरा देश दीयों कि रोशनी में जगमगाता नज़र आया, पूरे देश में दीपावली जैसा उत्सव मनाया गया। दिए जलाने के लिए लोगों ने अलग अलग तरीक़ों को अपनाया, कहीं लोग दीयों से सातिया तो कहीं ॐ कि आकृति में दीयों को सजाये नज़र आए।

इसी कड़ी में देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने परिवार के साथ अपने आवास पर मिट्टी के दीपक जलाए। वहीं गृहमंत्री अमित शाह ने भी अपने आवास पर सभी लाइट बंदकर पर मिट्टी के दीपक जलाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को लोगों से अनुरोध किया था कि वे कोरोना वायरस को हराने में देश के सामूहिक संकल्प का प्रदर्शन करने के लिए पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए अपने घरों की बत्ती बुझाएं और मोमबत्ती, दीये या मोबाइल फोन की लाइट या टॉर्च जलाने की अपील की थी।

पीएम ने कहा था कि आप लोग उन लोगों के प्रति कृतज्ञता जताएं, जो कोरोना से बचाने में हमें लगे हैं। पीएम की इस अपील के बाद जनता-कर्फ्यू के दिन 22 मार्च को शाम पांच बजे लोग अपने घरों और बालकनी-खिड़कियों के सामने खड़े होकर ताली और थाली बजाई थी। पीएम मोदी ने कहा था कि 22 मार्च को हमारा यह प्रयास, हमारा आत्म संयम, देश हित में कर्तव्य पालन के संकल्प का एक मजबूत प्रतीक होगा।

पीएम मोदी ने कहा था कि जब प्रथम विश्व युद्ध हुआ था तब भी इतने देश युद्ध से प्रभावित नहीं हुए थे जितने आज कोरोना की इस बीमारी से हैं। पिछले दो महीने से हमन निरंतर दुनिया भर से आ रहे कोरोना वायरस से जुड़ी चिंता जनक जुड़ी खबरे देख और सुन रहे हैं। इन दो महीनों में भारत के 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना जैसी महामारी का डट का मुकाबला किया है। सभी ने आवश्यक सावधानी बरतने का भरसक प्रयास भी किया है।