शराब माफियाओं के दबाव में किया बल्लभगढ़ थाना शहर के प्रभारी को लाइन हाजिर?

News24NCR/Faridabad: शहर में नए पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के आने के बाद से धड़ाधड़ नए नए बदलाव शहर में देखने को मिल रहे हैं। चाहे थाना मुजेसर के प्रभारी को घटिया नियंत्रण के प्रति नोटिस देने की बात हो या सारण चौकी के एएसआई के खिलाफ मामला दर्ज कराने का मामला हो। नए पुलिस कमिश्नर द्वारा किये जा रहे काम और बदलाव लोगों को खूब पसंद भी आ रहे हैं लेकिन इन सब के बीच थाना शहर प्रभारी का लाइन हाजिर कर देना विभाग में अंदर खाने चर्चा का विषय बना हुआ है। माना जा रहा है कि थाना शहर इलाके में अवैध तरीके के बेची जा रही शराब पर पिछले दिनों की गई कार्यवाही से नाराज शराब माफियाओं की इस तबादले में अहम भूमिका रही है। शराब के अवैध कारोबार पर लगाम कसने के लिए लॉक डाउन के दौरान शुरू की गई कार्यवाहीं के बाद से ही शराब व्यापारी व थाना प्रभारी में खींचतान शुरू हो गई थी। जिसमे लॉक डाउन के दौरान शराब बेचने पर मामला दर्ज कर दिया गया था।

सूत्रों के मुताबिक लॉक डाउन के दौरान शराब बेचने पर थाना शहर में पहला मामला 15 अप्रैल को दर्ज किया गया। उसके बाद तीस अप्रैल को दूसरा मामला दर्ज हुआ। इन मामलों में शराब व्यापारी गौरव, बिरजू व ग्रेस का नाम दर्ज किया गया। पुलिस रिकार्ड के अनुसार गौरव वाइन्स के नाम से शराब के ठेकों से शराब बेची जा रही थी। बस इसी के बाद से शराब कारोबारी व थाना प्रभारी राजीव कुंडू के बीच रस्सा कसी शुरू हो गई। इसके लिए राजनीतिक दबाव भी डलवाया गया। इसके बाद दस जुलाई को ऊंचा गांव चुंगी के पास स्थित शराब के ठेके से 130 पेटी शराब बिना परमिट के उतारते हुए पकड़ी गई। 14 जुलाई को एक शराब तस्कर को पकड़ा गया जिसने चावला कालोनी स्थित ठेके से शराब लेकर बेचने की बात कही। इन सब के बीच थाना प्रभारी पर शराब कारोबारी ने एक लाख रुपये मांग के लिए परेशान करने के आरोप लगाए जिसे शराब कारोबारी ने केवल सोशल साइट पर डाला लेकिन कोई लिखित शिकायत नही दी।

सूत्रों के मुताबिक इस पूरे प्रकरण के दौरान कई बड़े नेताओं ने भी शराब कारोबारी पर हल्का हाथ रखने को कहा था। कार्यवाहीं में हल्की ढील मिलते ही ठेके फिर देर रात तक खुलने लगे जिसकी शिकायत ठेके के आसपास के लोगों ने थाना प्रभारी से की ओर इन्हें बंद कराने और तय समय के बाद खुलने पर उच्च अधिकारियों से मिलकर शिकायत की बात कही गई। इसके बाद 16 जुलाई को देर रात तक ठेका खोलने का एक मामला और दर्ज किया गया। इस के बाद 21 जुलाई को थाना प्रभारी का तबादला पुलिस लाइन में कर दिया गया और उनके स्थान और सुदीप कुमार को प्रभारी लगाया गया। इस बारे में निरीक्षक राजीव कुंडू से बात की गई उन्होंने कुछ भी कहने से मना कर दिया।