लॉकडाउन में चुरा ली किसी ने मां पार्वती की मूर्ति, इंतज़ार में बैठे हैं अकेले शिव भगवान

News24NCR/Delhi: राजस्थान के बूंदी जिले के हिंडौली में एक ऐसा कस्बा है जहां मंदिर से मूर्ति चुराकर ले जाने पर लड़कों की शादी हो जाती है और कमाल की बात ये है कि इस तरह के मूर्ति चुराने पर कोई पुलिस केस भी नहीं होता।

मूर्ति चुराने की मान्यता
दरअसल, ये सारा खेल एक मान्यता का है। ऐसा माना जाता है कि यहां रामसागर झील किनारे रघुनाथ घाट मंदिर से अगर कोई कुंवारा लड़का, जिसकी शादी न हो रही हो और मंदिर से मां पार्वती की मूर्ति उठा के ले जाए तो उसकी शादी जल्द ही हो जाती है। यही वजह है कि युवक चुपके से रात में मूर्ति उठा के ले जाते हैं।

इस वजह से अक्सर लोगों का यह मानना है कि शिव अकेले ही मंदिर में बैठे रह जाते है और मां पार्वती महीनों तक मंदिर से ऐसे ही गायब रहती हैं।

लॉकडाउन में हुई चोरी
लॉकडाउन से पहले ही किसी ने पार्वती की मूर्ति चुरा ली। जिससे अब वो किसी कुंवारे के घर हैं और मंदिर में अकेले शिव भगवान बैठे उनका इंतज़ार कर रहे हैं। इस बारे में मंदिर के पुजारी का कहना है कि यहां ये साल भर होता रहता है। बहुत कम ही समय होता है जब दोनों शिव पार्वती जोड़ें में मिलते देखें हो। कुंवारे लडके चुरा ले जाते हैं और उनकी शादी होती है तो रख भी जाते हैं मूर्ति इसलिए हम लोग टोकते नहीं है।