ब्लैकमेलिंग की भेंट चढ़ी फरीदाबाद के व्यापारी की ज़िंदगी, पुलिस ने किया खुलासा

News24NCR/Faridabad: शहर बल्लभगढ़ पुलिस ने मृतक संजीव कुमार को आत्महत्या करने के लिए उकसाने और ब्लैकमेल करने के जुर्म में महिला सहित एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपियों द्वारा बनाया गया वीडियो बरामद कर ली है।महिला आरोपी और स्वामी को गिरफ्तारश्रीमती धारणा यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने महिला आरोपी और स्वामी को गिरफ्तार किया है। 

24 अगस्त को मृतक संजीव कुमार के बेटे स्पर्श ने थाना शहर बल्लभगढ़ पुलिस को लिखित शिकायत दी थी कि उसका पिता संजीव कुमार घर से लापता है, और घर से एक हस्तलिखित नोट मिला है जिस पर पुलिस ने 346 ,384,506,34 IPC के तहत मुकदमा दर्ज किया था। थाना शहर बल्लभगढ़ पुलिस ने मृतक संजीव कुमार की गाड़ी सेक्टर 8 श्मशान घाट के पास गुडगांव कैनाल के ऊपर बने पुल पर मिली थी।

डेड बॉडी गुरुग्राम कैनाल में मिली-थाना शहर बल्लभगढ़ पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही थी। 29 अगस्त को पुलिस को मृतक संजीव कुमार की डेड बॉडी गुरुग्राम कैनाल में मिली।  उधर इस मुकदमे में मृतक प्रिंटिंग प्रेस मालिक के पास काम करने वाली गिरफ्तार महिला ने 28 अगस्त शाम को महिला थाना बल्लभगढ़ में गुमशुदा/ मृतक संजीव कौशिक के खिलाफ रेप की शिकायत दी थी जिस पर महिला थाना ने मुकदमा दर्ज कर लिया था।

एसीपी धारणा यादव ने बताया कि पुलिस को मृतक संजीव कुमार के द्वारा लिखे नोट मे कहा कि उसकी प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाली एक महिला और विनोद एक अन्य आरोपी स्वामी के साथ मिलकर पिछले 1 साल से मुझे ब्लैकमेल कर रहे थे। इन तीनों ने मुझे फसाने के लिए पूरा प्लान बनाया था। तीनों मुझसे करीब 15 लाख रुपए ऐंठ चुके हैं।मृतक संजीव के साथ प्रेम का जाल रचा-जिस पर थाना शहर बल्लभगढ़ पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या करने के लिए उकसाने और ब्लैकमेल करने के तहत मामला दर्ज किया है।

पूछताछ पर महिला आरोपी ने बताया कि वह काफी सालो से मृतक संजय कुमार की प्रिंटिंग प्रेस पर काम करती थी ,और विनोद भी मेरे साथ काम करता है। मोटी कमाई को देखकर हम दोनों ने मृतक संजीव कुमार को फसाने के लिए और उसके पैसे हड़पने के लिए प्लानिंग बनाई थी। प्लानिंग के तहत महिला आरोपी ने मृतक संजीव के साथ प्रेम का जाल रचा और प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले आरोपी विनोद ने मृतक संजीव और आरोपी महिला की वीडियो बना ली। वीडियो के बारे में आरोपी महिला को पता था कि वीडियो बन रही है,लेकिन मृतक संजय इस बारे में नहीं जानता था।

मृतक से अब तक ₹15 लाख रूपए ऐंठ चुके थे-वीडियो के आधार पर आरोपी महिला विनोद और स्वामी के साथ मिलकर पिछले एक साल से प्रिंटिंग प्रेस के मालिक मृतक संजीव कुमार को ब्लैकमेल कर रहे थे। ब्लैकमेल करके आरोपी मृतक संजीव कुमार से अब तक ₹15 लाख रूपए ऐंठ चुके थे। श्रीमती यादव ने बताया कि आरोपी स्वामी का असली नाम कृपाल सिंह है जो कि मथुरा यूपी का रहने वाला है। अभी फिलहाल आरोपी पलवल में रह रहा है। आरोपी अपने आप को बाबा बताता था। आरोपी महिला मृतक संजीव कुमार को स्वामी के पास लेकर जाती थी।

मृतक संजीव कुमार की डेड बॉडी मिलने पर आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा ऐड की गई। इस केस की आरोपी महिला ने 1 दिन पहले महिला थाना बल्लभगढ़ में मृतक संजीव कुमार के खिलाफ बलात्कार का मामला भी दर्ज कराया था। ताकि अगर कोई बात हो तो उस पर ना आए।   आरोपी महिला और स्वामी/ बाबा उर्फ कृपाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है एक अन्य आरोपी विनोद अभी फरार है उसकी तलाशी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है उसको भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।