ब्रेकिंग: निकिता ने मरने से पहले खुद बताया था गोली मारने वाले तौशीफ का नाम

News24NCR/Faridabad: फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में हुए निकिता तोमर हत्याकांड की चार्जशीट शुक्रवार को एसआईटी ने न्यायालय की एकल में पेश कर दी। टीम ने अपनी जांच की शुरुआत भले ही साल 2018 में हुए अपहरण कांड से की हो, लेकिन अभी तक उन्हें पिछले केस को दोबारा से खोलने की मंजूरी नहीं मिली है। 

nikita murder case

इस पूरे मामले को अंजाम तक पंहुचाने के लिए अब एसआईटी का अगला टारगेट दो साल साल पहले हुए अपहरण कांड की जांच दोबारा से करना है। जांच टीम ने इसके लिए अदालत में अर्जी लगा रखी है। न्यायालय ने इसके लिए उन्हें 9 नवंबर की तारीख दी है। 

हत्याकांड का सीसीटीवी फुटेज

निकिता ने बताया था गोली चलाने वाला तौसीफ
बल्लभगढ़ कॉलेज गेट पर गोली लगने से घायल हुई निकिता तोमर ने अस्पताल ले जाते समय इस बात की पुष्टि की थी कि उसे गोली मारने वाला तौसीफ ही था। यह बात निकिता ने उस युवक को बताई थी जोकि उसे घटना स्थल से उठाकर पास ही निजी अस्पताल लेकर गया था। पुलिस ने इस युवक को अपनी चार्जशीट में अहम गवाह बनाया है। गवाह के हवाले से ही पुलिस ने निकिता के आखरी बयान को भी अपनी चार्जशीट में शामिल किया है।विज्ञापन

विलाप करते हुए परिजन

दो साल पुराने फोन रिकॉर्ड भी खंगाले
साजिश पुरानी होने के कारण जांच टीम ने निकिता व तौसीफ के दो साल के फोन रिकॉर्ड भी खंगाले हैं। इसमें दोनों की बातचीत होने की बात सामने आई है। पूछताछ में खुद तौसीफ ने भी यह माना था कि वह उससे शादी करना चाहता था, इसलिए वह फोन पर बात करता था। हालांकि यह बातचीत ज्यादा देर की नहीं हैं। सूत्रों के मुताबिक जबरन धर्म परिवर्तन के दबाव की बात पुलिस जांच में सामने नहीं आई है।

निकिता हत्याकांड की चार्जशीट फाइल करने फरीदाबाद कोर्ट पहुंची एसआईटी

फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई के लिए अर्जी दाखिल
निकिता हत्याकांड मामले की जांच कर रही एसआईटी ने देर न करते हुए इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने के लिए चार्जशीट के साथ ही अर्जी दाखिल कर दी है। अब न्यायाधीश इस अर्जी पर संज्ञान लेंगे कि केस को फास्ट ट्रैक में चलाया जाए या नही। चार्जशीट पर भी तारीख और सुनवाई कब से शुरू होगी यह कहना अभी कठिन है। अभी चार्जशीट एकल सेवा केंद्र में जमा हुई है। मामला न्यायधीश के सामने जाने के बाद ही आगे की कार्रवाई शुरू होगी। 

nikita murder case

बता दें कि 26 अक्तूबर को सोहना रोड स्थित अपना घर सोसायटी में रहने वाली बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता तोमर की तौसीफ नामक युवक ने उस समय गोली मारकर हत्या कर दी थी जब वह बल्लभगढ़ स्थित अग्रवाल कॉलेज में परीक्षा देने पहुंची थी। हत्यारोपी तौसीफ और उसके साथ रेहान ने पहले छात्रा को जबरन कार में डालना चाहा था। इस दौरान छात्रा के साथ मौजूद उसकी सहेली ने भी हत्यारों का विरोध किया था। इसी दौरान तौसीफ ने निकिता को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी।