बैलगाडिय़ों पर सवार होकर कांग्रेसियों ने लघु सचिवालय पर किया विरोध प्रदर्शन, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

News24NCR/Faridabad: अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरूद्ध राष्ट्रीय, प्रदेश, जिला व ब्लॉक स्तर पर चल रही मुहिम के तहत आज ओल्ड फरीदाबाद में कांग्रेस नेताओं ने बैलगाडिय़ों पर सवार होकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ एक जुलूस के रूप में सेक्टर-12 लघु सचिवालय पहुंच कर प्रदर्शन किया, जहां भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर एसडीएम अमित कुमार गुलिया के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपते हुए पेट्रोल-डीजल में हुई बेतहाशा वृद्धि को वापिस लेने की मांग की।

इस दौरान महिला कांग्रेस, लीगल सेल, युवा कांग्रेस, ओबीसी सेल के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन में बढ़चढक़र भाग लिया और हाथों में ‘मोदी सरकार महंगाई की मार’, ‘धर्मेन्द्र प्रधान मुर्दाबाद, भाजपा सरकार मुर्दाबाद’ की तख्तियां व बैनर लेकर अपना विरोध जताया। इस मौक़े पर कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक तरफ तो गरीबों को राहत देने की बात कहते है, जबकि दूसरी तरफ सरकार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाकर मध्यमवर्गीय परिवार की परेशानियां बढ़ा रहे है। मन की बात में प्रधानमंत्री की पेट्रोल-डीजल मूल्यावृद्धि पर चुप्पी यह स्पष्ट करती है कि यह प्रधानमंत्री मोदी को गरीबों से कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें मात्र 40 रूपए प्रति बैरल रह गई है, इसके बावजूद पेट्रोल-डीजल के दाम पिछले 25 दिनों में पेट्रोल लगभग 11 रूपए लीटर और डीजल 9 रूपए प्रति लीटर महंगे हो गए है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां कोरोना काल में लोग इस बीमारी से लड़ रहे है वहीं दूसरी लड़ाई जनता महंगाई से लड़ रही है क्योंकि पेट्रोलियम पदार्थाे की कीमतों में वृद्धि होने से खाद्य पदार्थ, मालभाड़ा किराया सहित रोजाना प्रयोग में आने वाली अन्य वस्तुओं के दामों में भी वृद्धि होनी शुरू हो गई है, जिससे लोगों एक और संकट पैदा हो गया है। उन्होंने भाजपा नेताओं पर तंज कसते हुए कहा कि विपक्ष में रहते हुए भाजपाई जहां मामूली मूल्यावृद्धि पर कपड़े उतारकर प्रदर्शन किया करते थे, आज वह लोग मंत्री विधायक बनकर ए.सी. में बैठे है और उनको लोगों की परेशानियों से कोई लेना-देना नहीं है।

ऐसे नेताओं का असली चेहरा जनता भली भांति जान चुकी है। उन्होंने कहा कि ऐसा देश के इतिहास में पहली बार हुआ है, जब डीजल के दाम पेट्रोल से ऊपर पहुंच गए है, जो सरकार की नाकामी को दर्शाता है। इस अवसर पर कांग्रेसियों ने एकमत होकर सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर जल्द ही पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि वापिस नहीं ली गई तो कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा सरकार के खिलाफ सडक़ों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।