फरीदाबाद: पेड़ के नीचे ऑक्सिजन लगाकर स्ट्रेचर पर ही किया जा रहा कोरोना पीड़ितों का इलाज

News24NCR/SandeepGathwal: फरीदाबाद के गांव खेड़ी कलां के स्वास्थ्य केंद्र बेहतर सुविधाएं देने के लिए जाना जाता है। यहां पर ऑक्सिजन समेत बैड की पर्याप्त सुविधा न होने के बाद भी कोरोना संक्रमित मरीजों को निराशा नहीं किया जाता। यहां के डॉक्टरों की कोशिश होती है कि पहले मरीजों को ऑक्सिजन देकर इलाज शुरू किया जाए। डॉक्टर बाहर पेड़ के नीचे ऑक्सिजन सिलेंडर लगाकर इलाज करते हैं, ताकि मरीजों को आराम मिले।

कुछ ऐसा ही नजारा इस अस्पताल में देखने को मिला। पिछले साल ही स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए अलग से 25 बैड की सुविधा शुरू की गई थी, लेकिन तब इनकी खास जरूरत नहीं पड़ी थी। इसके चलते वार्ड में कम ही मरीजों का इलाज किया गया था। इस वजह से इन बैडों को समेट लिया गया था, लेकिन अब दूसरी लहर में जब मरीजों के लेने के देने पड़ रहे हैं तो फिर से 25 बैडों का अलग से वार्ड तैयार किया गया। पर्याप्त ऑक्सिजन सिलेंडरों समेत अलग से वार्ड तैयार किया।

कई दिनों से सभी बैडों पर कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। बुधवार को भी सभी बैड पर मरीज हैं, लेकिन कोरोना संक्रमित मरीज आ रहे हैं। यह वह मरीज हैं, जिन्हें ऑक्सिजन की बेहद जरूरत है। उन्हें वार्ड में भर्ती करने की बजाए सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉ़ हरजिंद्र सिंह व डा़ सन्नी पेड़ के नीचे मरीजों को स्ट्रेक्चर पर लेटा कर ऑक्सिजन लगवाकर इलाज शुरू कराते हैं। इन मरीजों के तीमारदारों का कहना है कि अब तो समय ऐसा है कि अस्पतालों में मरीज भर्ती हो जाए, चाहे मरीजों का इलाज पेड़ के नीचे करें।

हम इससे खुश है कि हमारे मरीजों का इलाज बाहर चल रहा है, साथ ही यहां के डॉक्टर बेहतर इलाज कर रहे हैं। वहीं डा़ हरजिंद्र सिंह का कहना है कि इलाज के अभाव में किसी मरीज को परेशानी न हो, इसलिए हमारी पहली कोशिश मरीजों को इलाज देने की है। किसी मरीज के स्वास्थ्य होने पर छुट्टी होगी तभी बाहर के मरीजों को अंदर बैड पर शिफ्ट किया जाएगा।