फरीदाबाद: आग लगने के बाद नीलम पुल पूरी तरह से बंद, शहर में लगा जाम

News24NCR/Faridabad: बृहस्पतिवार शाम कबाड़ गोदाम में आग लगने के कारण क्षतिग्रस्त हुए नीलम-अजरोंदा रेलवे ओवरब्रिज खुलने के लिए शहरवासियों को लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। अब पुल की दोनों लेन बंद कर दी गई हैं। अधिकारियों का कहना है कि फरीदाबाद नगर निगम एक्सपर्ट एजेंसी पुल का निरीक्षण कराएगा, जिसमें देखा जाएगा कि आग से पुल कितना क्षतिग्रस्त हुआ है। एजेंसी की रिपोर्ट के बाद ही पुल खोला जा सकेगा। बृहस्पतिवार रात पुल की एक लेन शुरू कर दी थी, मगर अधिकारियों के दखल के बाद वह भी बंद कर दी गई। सुबह कुछ दोपहिया वाहन चालक बैरिकेडिंग से निकलकर पुल के दूसरी तरफ आ गए। पुलिसकर्मियों ने उन्हें वहीं रोक दिया और वापस जाने को कहा। वे पुलिसकर्मियों से उलझते नजर आए।

बता दें कि शहर के सबसे पुराने राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़े नीलम-अजरोंदा रेलवे ओवरब्रिज के नीचे बृहस्पतिवार शाम अवैध रूप से बने कबाड़ गोदाम में भीषण आग लग गई थी। फायर ब्रिगेड ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया, मगर आग से पुल के कई पिलर क्षतिग्रस्त हो गए। इसे देखते हुए पुल की दोनों लेन पर वाहनों का आवागमन रोक दिया गया। आग के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। आग से दो कारें जल गईं थीं। फायर स्टेशन नजदीक ही है, ऐसे में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां समय रहते मौके पर पहुंच गईं।

नीलम-अजरोंदा रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण 1979 में हुआ था। इस ओवरब्रिज के नीचे वर्ष 2003 व 2008 में महानगर पालिका बाजार विकसित करने के नजरिए से नगर निगम ने 32 दुकानें आवंटित की थी। रेलवे लाइन के दोनों तरफ पुल के नीचे कुछ जगह खाली भी। इसी खाली जगह पर कई लोगों ने अवैध रूप से कबाड़ गोदाम बनाए हुए हैं। दिनभर कबाड़ बीनकर यहां इकट्ठा करते हैं, जिसे बाद में अलग-अलग कर बेचा जाता है। शाम करीब 4 बजे इसी कबाड़ गोदाम में आग लग गई। आग के कारणों का पता नहीं चल सका है। देखते-देखते आग भड़क गई। आस-पास अफरा-तफरी मच गई।