पति की मृत्यु के बाद महिला को झांसे में लेकर दंपत्ति व उसके बच्चों के करोडों रुपए हडपे

फरीदाबाद(News24NCR) : पति की मृत्यु के बाद एक महिला को झांसे में लेकर दंपत्ति व उसके बच्चों के बिजनेस इनवेस्टमेंट के नाम पर करोडों रुपए लगवा लिए और बाद में पैसे देने व मुनाफा देने से इंकार कर दिया। थाना सैंट्रल पुलिस ने महिला की शिकायत पर गुरूनानक इंजिनियरिंग सर्विसिज आफिस सैक्टर-15ए के कंवरजीत सिंह अरोडा, नवनीत अरोडा, जसलिन अरोडा व विक्रम जीत सिंह अरोडा के खिलाफ 420 का  मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दी अपनी शिकायत में सैक्टर-15 में रहने वाली एक महिला शशि खुराना ने बताया कि 2015 में उसके पति को कैंसर हो गया जिनका इलाज अपोलो तथा फोर्टिज अस्पताल में चल रहा था। वहीं कंवरजीत सिंह अपनी माता के इलाज के लिए फोर्टिज अस्पताल आता जाता रहता था। धीरे-धीरे उनके परिवार के साथ उनका मेलजोल हो गया। इस बीच उनके पति का देहांत हो गया, जिसके बाद वह पूरी तरह से टूट गई। इस दौरान कंवरजीत और उसकी पत्नी तथा बच्चों ने अपनी बातों में लेकर अपने झांसे में ले लिया और वह पूरी तरह कंवरजीत और उसकी पत्नी पर भरोसा करनी लगी। शशि खुराना ने बताया कि उसके पति पैरामाउंट रबड़  इंडस्ट्री के नाम से एक कंपनी चलाते थे| पति की मृत्य के बाद उसने कंवरजीत से कहा कि अब उसके बिजनेस का क्या होगा, क्योंकि उसके बच्चे और वह इस बारे में कुछ नहीं जानते थे। इस पर कंवरजीत सिंह ने कहा कि वह उनकी दोनों फर्मों का काम संभाल लेगा । कंवरजीत सिंह और उसकी पत्नी व दोनों बच्चे आकर उसे बेवकूफ बनाते रहे। इस बीच कंवरजीत ने कहा कि वह सरकारी कंस्ट्रक्शन के ठेके लेता है और उसकी गुरूनानक इंजीनियरिंग सर्विसिज के नाम से पाटर्नरशिप फर्म है। उसने कहा कि आप मेरी फर्म में पैसा इंवेस्ट करोगए तो मैं आपको मोटा प्रोफिट देता रहूंगा। उसने कहा कि करीब 3-4 करोड रुपए इंवेस्ट करने पडेंगे। शशि खुराना ने बताया कि वह पूरी तरह से उन पर भरोसा करती थी। शशि खुराना ने कहा की पैसा इन्वेस्ट करने के बाद मेरे बेटे अनमोल व अनुभव को अपनी फार्म में पार्टनर बना लो तो कंवरजीत और नवनीत अरोडा ने उन दोनों को बेवकूफ बनाया कि हमें अपने बच्चों को आस्ट्रेलिया भेजना है इसलिए वाइट की ज्यादा इनकम दिखानी है और जब हम अपने बच्चों को विदेश भेज देंगे तो उसके दोनों बेटों को अपना पाटर्नर बना लगें। इस पर वह मान गई। उनकी बात मानकर उसने अपनी फर्म से करोडो रूपये गुरूनानक इंजीनियरिंग में दे दिए। ऐसे ही उसने अलग-अलग खातों से कई करोड रुपए उसे दे दिए। 27 मार्च 2019 को अचानक कंवरजीत और उसकी पत्नी तथा बेटे ने उसके बेटों को आफिस में आने से रोक दिया। जब उसने कंवरजीत से अपना पैसा और प्राफिट माँगा तो उसने एकदम मना कर दिया और उसे धमकी दी की जो भी करना है कर लो। इसके बाद उनकी शहर के मौजिज व्यक्तियों के बीच एक बैठक हुई जिसमें कंवरजीत सिंह ने यह माना की उसे खुराना परिवार के पैसे लौटने है और वह 6 करोड रुपए देने के लिए तैयार हो गया|  उसने एक चैक उनकी कंपनी पैरामाउंट रबर इंडस्ट्रीज के नाम से दे दिया जब उन्होंने उस चैक को डाला तो वह बाउंस हो गया। तो कंवरजीत ने कहा कि उसके फंडस ट्रांसफार होने वाले है इसलिए चैक को दोबारा डाल दो कंवरजीत ने उस चैक की स्टाप पैमेंट करवा दी। शशि खुराना ने बताया कि कंवरजीत ने उनके पैसे को अपने बेटी के आस्ट्रेलिया के खाते में जमा करवा दिया है। शशि खुराना ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है तथा कि उसे उसके पैसे व इंसाफ दिलाया जाए। पुलिस ने महिला की शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।