ठेके खुलते ही पुलिस ने शराबियों पर बरसाए डंडे, फिर भी लगे रहे लाइनों में।

News24NCR/Faridabad: सरकारी आदेशों के बाद आज हरियाणा में भी ठेके खोल दिए गए लेकिन फरीदाबाद शहर में कुछ ही ठेके खुले नज़र आए। ठेके खुलते ही ठेकों के बाहर लोगों की लाईन लगनी शुरू हो गई। सबसे अधिक लोग तिकोना पार्क के सामने एनआईटी नंबर 1 में पहुंचने शुरू हो गए हैं। इस ठेके पर सुबह से ही लोगों की भीड़ लगने लगी।

वहीं कुछ ठेकों की चाबी ही गुम हो गई तो ताला तोडक़र वो ठेके खोलने पड़े। दिल्ली जैसी घटना फरीदाबाद में ना हो, इसके लिए पुलिस ने पहले ही अपनी योजना तैयार कर ली थी। पुलिस कमिशनर ने एक दिन पहले ही सभी अधिकारियों को चेतावनी जारी कर दी थी। यही वजह है कि अनेक ठेकों पर पुलिस भी पहुंच गई। एनआईटी में सबसे अधिक भीड़ तिकोना पार्क के ठीक सामने व्यापार मंडल के पास एनआईटी नंबर 1 में स्थित ठेके पर ही दिखाई दी। वहां जरूर लोग काफी संख्या में पहुंच गए, और पुलिस को सख़्ती बरतनी पड़ी।

इसके साथ ही लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग कहीं नज़र नहीं आ रही थी और निगम प्रशाशन नें ठेके के साथ साथ लाइन में लगे लोगो को भी सैनेटाइज किया।

इसके अलावा बाकि ठेकों पर कम ही लोग दिखाई दिए। सैक्टर 12 व बाटा हाईवे के दोनों ठेकों की चाबी ही नहीं मिली, वहां किसी तरह से ठेके खोले गए। इसके अलावा फरीदाबाद के कंटेनमेंट जोन में शराब के ठेके नहीं खोले जा सके हैं। वहां के लोग अन्य स्थानों पर शराब खरीदने पहुंचे । फरीदाबाद में कई स्थानों पर ठेके खोले भी नहीं गए हैं।
बताया गया है कि अधिकांश ठेकों से लॉकडाऊन के दौरान शराब जमकर बेची गई है। इसलिए कई ठेकों का माल ही खत्म हो गया। इसके अलावा शराब के गोदाम जिन्हें एल-1 कहा जाता है , उनकी नीलामी ना होने को लेकर भी दिक्कत है, जब एल1 से माल ठेकों पर पहुंचेगा ही नहीं तो ठेके खुलेंगे कैसे। यह भी एक बड़ा मामला सामने आ रहा है।