ज़िंदगी कोरोना के नाम कर गए डॉक्टर हैदियो अली, ज़िंदगी के अंतिम क्षणो में पहुँचे घर के दरवाज़े

इस तस्वीर के साथ दी जा रही श्रद्धांजली

डॉक्टर हैदियो अली

इंडोनेशिया के लोगों को कोरोना से बचाते हुए खुद संक्रमित होने वाले डॉक्टर हैदियो अली मानवता कि अटूट मिसाल बन कर अपनी ज़िंदगी को देश के लोगों के नाम कर गए। सोशल मीडिया पर एक मेसीज के साथ डॉक्टर हैदियो अली कि आख़िरी फ़ोटो शेयर की जा रही है जिसमें वह अपने परिवार के सामने गेट पर खड़े नज़र आ रहे है।

लोगों द्वारा शेयर किए जा रहे मेसिज में लिखा गया है

इस तस्वीर को हमेशा याद रखिये, यह मार्मिक तस्वीर त्याग की एक मिसाल है.
यह इंडोनेशिया के डा. #हैदियो_अली की आख़री तस्वीर है जो #कोरोना वॉयरस के मरीज़ों का का ईलाज करते हुए खुद कोरोना से संक्रमित हो गये थे.
जब उनको लगा के अब वोह नहीं बचेंगे तो घर गए और गेट के बाहर खड़े होकर अपने बच्चों और प्रैग्नेंट बीवी को आख़री बार निहारा और फिर चले गए, यह तस्वीर उनकी पत्नी ने ली थी जब वोह अपने बच्चों को जी भरकर देखने और उनसे विदा लेने आये थे, वोह दूर ही खड़े रहे क्योंकी वोह नही चाहते थे कि उनके बीवी बच्चों तक कोरोना पोहंचे.
डॉ. हेदीयो इंसान के रूप में एक फ़रिश्ता साबित हुवे, ऐसे डॉक्टर को सलाम, शत शत नमन.
Corona Outbreak

RESPECT