खुशखबरी: स्मार्ट सिटी फरीदाबाद में बनेगी देश की पहली वाई-फाई सड़क, तिरंगे की थीम पर बन रही स्मार्ट रोड़

News24NCR/SandeepGathwal: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश के शहरों को सुंदर बनाने के लिए महत्वाकांक्षी परियोजना स्मार्ट सिटी के तहत फरीदाबाद में बड़खल चौक से बाईपास तक बन रही सड़क का थीम अब पूरी तरह से तिरंगे पर आधारित होगा। सड़क पर प्रवेश करने से लेकर पूरी यात्रा के दौरान चलने वालों को तिरंगे का अहसास होगा। इसके लिए केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने स्मार्ट सिटी, नगर निगम व एफएमडीए के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने शुक्रवार सुबह स्मार्ट सिटी, नगर निगम व एफएमडीए के अधिकारियों के साथ बड़खल चौक से बाईपास तक स्मार्ट सिटी द्वारा विकसित की जा रही सड़क का पैदल निरीक्षण किया।

गुर्जर ने सड़क की प्रत्येक बारिकी अधिकारियों को बताई

अधिकारियों के साथ पैदल चलते हुए मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने सड़क की प्रत्येक बारिकी अधिकारियों को बताई। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क की गुणवत्ता विश्वस्तरीय होनी चाहिए और यह सड़क तिरंगा थीम पर तैयार कर आजादी के 75 वे अमृत महोत्सव के तहत राष्ट्र को समर्पित की जाएगी। इस पर सड़क के साथ-साथ बने मकानों पर पानी की टंकियों डिजीटल रोशनी से जगमग किया जाएगा। इस तरह का प्रयोग हाल ही में कश्मीर के लाल चौक को सजाने के लिए किया गया है। उन्होंने बताया कि सड़क पर रोशनी के लिए लगाए गए खंभों पर भी तिरंगा लुक देने वाली लड़ियां लगाई जाएंगी।

सड़क की थीम भी तिरंगा रखा जाए

बड़खल चौक से इंट्री का थीम भी तिरंगा रखा जाए और पूरी रेलिंग पर भी तिरंगा पेंट होगा। उन्होंने कहा‌ कि तिरंगे को सम्मान देते हुए यह सड़क हम पूरी तरह से राष्ट्र को समर्पित करेंगे ताकि यहां से चलने वालों को अपने तिरंगे पर गर्व हो। उन्होंने बताया कि सड़क के दोनों तरफ बेहतरीन साईकिल ट्रैक तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही 1600 मीटर का यह रोड वाई-फाई होगा। इसके लिए आठ स्मार्ट पोल लगाए जा रहे हैं। यहां एक पोल के 200 मीटर के दायरे में कोई भी व्यक्ति आधा घंटा तक वाईफाई से हाई स्पीड इंटरनेट प्रयोग कर सकता है। अगले खंभे के पास जाकर फिर से आधा घंटा इंटरनेट प्रयोग कर सकते हैं। इस दौरान उनके साथ सीईओ स्मार्ट सिटी डा. गरिमा मित्तल, एमसीएफ, स्मार्टसिटी, एफएमडीए के सभी एक्सईएन व परियोजना से जुड़े अधिकारी भी मौजूद थे।