क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने दबोचा नकली आईपीएस, NIA का ACP बताता था खुद को

News24ncr/Faridabad: क्राइम ब्रांच सैक्टर 30 ने एक ऐसे नकली IPS को पकड़ा है जो शातिर कार चोर है, लोगो की आखों मे धूल झौकने ओर ठगी करने मे बहुत आगे निकल चुका है। नकली IPS ने तो फर्ज़ीवाड़े का निज़ाम ही बदलकर रख दिया, जहां एक तरफ एक नौजवान को कड़ी मेहनत करके देश की सबसे कठिन परीक्षा पास करने के बाद IPS की वर्दी पहनने का मौका मिलता हैं, वहीं दूसरी तरफ एक शातिर चोर बिना किसी मेहनत किए IPS की वर्दी पहनकर ठगी का धंधा चला रहा था।

IPS की वर्दी पहनकर पुलिस अधिकारी तो बन गया मगर जब इसकी पोल खुली तो पता चला की ये एक कार चोर है जो एनसीआर इलाके से चोरी की कारों को नॉर्थ ईस्ट पहुचाने का काम करता था।

अपराध शाखा सैक्टर 30 टीम विमल कुमार ने पुलिस कमिश्नर श्री ओ.पी सिंह द्वारा अपराधिक गतिविधियो मे शामिल लोगो की धरपकड़ के दिए गए आदेशानुसार व डीसीपी व एसीपी क्राइम के दिशानिर्देशों पर कार्यवाही करते हुए गुप्त सूत्रों के आधार पर मणिपुर के रहने वाले दो नोजवान लड़कों अबंग महताब और कबीर खान को अवैध असले व फर्जी दस्तावेजों के साथ दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर से गिरफ्तार किया है।

मुख्य आरोपी मेहताब ने पूछताछ पर बताया कि वह और उसका दोस्त कबीर एनसीआर से चोरी की कारों को मणिपुर में ले जाने का काम करते हैं। वे मणिपुर से फ्लाइट के रास्ते दिल्ली आते हैं और यहां से चोरी की कार में सवार होकर सड़क के रास्ते मणिपुर जाते हैं। वे प्रत्येक चक्कर लगाने के 50 हजार रुपये लेते हैं तथा चोरी की गाड़ी को वहां तक ले जाने में कोई दिक्कत ना आये इसके लिए NIA का नकली आई कार्ड, रास्ते मे होटल इत्यादि में ठहरने के लिए नकली आधार कार्ड व अपनी पर्सनल सुरक्षा के लिए अवैध असला अपने पास रखते थे।

दोनों आरोपियों पर कानूनी कार्यवाही के तहत नकली दस्तावेज व अवैध असला रखने के जुर्म में कल दिनांक 9 सितंबर 2020 को थाना सराय ख्वाजा में धारा 170,419,420,467,468,471 IPC व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा न0 213 दर्ज किया गया है।

आज दोनों आरोपियों को अदलात में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और चोरी की गई कारों व अन्य मुकदमों से सम्बंधित तथ्यों के बारे पूछताछ की जाएगी।

एनसीआर से कार चोरी करके मणिपुर ले जाकर बेचता था शातिर अपराधी, IPS अधिकारी की वर्दी डालकर लिए गए फोटो और नकली आई कार्ड दिखाकर पुलिस व टोल कर्मियों को देने में महारत हासिल आरोपी ने AK47 गन के साथ सेल्फी लेकर मोबाइल में कर रखी थी व अलग अलग नाम व पते से 5 आधार कार्ड बनवा रखे थे जिनका इस्तेमाल होटल में रहने के लिए करता था, अपने दोस्त को अवैध पिस्तौल सहित रखता था अपनी सुरक्षा में