कोरोना के क़हर के बीच दिल्ली कि हवा में फिर घुला प्रदूषण का ज़हर।

News24NCR/Delhi: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने से हवा की गुणवत्ता एक बार फिर खराब हो गयी है और इसका सूचकांक (एक्यूआई) ‘संतोषजनक’ की श्रेणी से उतरकर ‘मॉडरेट’ की श्रेणी में आ गया। लॉकडाउन के बाद देश के अन्य हिस्सों की तरह ही दिल्ली में एक्यूआई यानी प्रदूषण का स्तर 100 से नीचे आ गया था। सूचकांक 50 तक होना हवा की अच्छी गुणवत्ता को दर्शाता है जबकि 50 से 100 के बीच का स्तर ‘संतोषजनक’ का है।

PunjabKesari

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की स्वायत्त एजेंसी ‘सफर’ के अनुसार दिल्ली में आज पीएम 10 का स्तर बढ़कर 107 पर पहुंच गया। रविवार को यह 87 रहा था। हालांकि सफर ने मंगलवार को इसके दुबारा संतोषजनक की श्रेणी में आने का पूर्वानुमान जारी किया है। बुधवार को हवा की गुणवत्ता में और सुधार होगा हालाँकि यह संतोषजनक की बनी रहेगी। राजधानी में रविवार रात नौ बजे कई इलाकों में लोगों ने जमकर आतिशबाजी की जिससे हवा की गुणवत्ता खराब हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ दिया, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील की थी, लेकिन लोगों ने पटाखे छोड़कर पूरी दिवाली मना ली। 

दिल्ली के विभिन्न केंद्रों पर रविवार शाम से सोमवार की सुबह तक प्रदूषण काफी बढ़ गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोडर् के आँकड़ों के अनुसार, रविवार रात 8.30 बजे से सोमवार दोपहर 12 बजे के दौरान विवेक विहार में एक्यूआई 100 से बढ़कर 191 पर पहुँच गया। इसका 100 से 200 के बीच का स्तर ‘मॉडरेट की श्रेणी में आता है जबकि 200 से 300 का स्तर ‘खराब’ की श्रेणी का है।

PunjabKesari

सोनिया विहार में कल शाम से आज दोपहर तक एक्यूआई 103 से बढ़कर 187 पर, पंजाबी बाग में 88 से बढ़कर 165 पर, पूसा में 92 से बढ़कर 166 पर, नेहरू नगर में 93 से बढ़कर 164 पर, ओखला फेज-2 में 74 से बढ़कर 144 पर, अशोक विहार में 123 से बढ़कर 189 पर, अलीपुर में 125 से बढ़कर 190 पर, पटपड़गंज में 71 से बढ़कर 125 पर और रोहिणी में 150 से बढ़कर 197 पर पहुँच गया। बोडर् द्वारा जिन केंद्रों पर प्रदूषण के आँकड़े एकत्र किये जाते हैं उनमें लगभग सभी स्थानों पर आज प्रदूषण का स्तर रविवार की तुलना में अधिक रहा।