कोरोना काल में हो रही मज़ेदार शादियाँ, अलग अलग शिफ़्टों में बुलाए जा रहे बाराती

News24ncr/Faridabad: पहले दिल्ली सरकार ने शादियों में 200 लोगों से घटाकर समारोह में शामिल होने वालों की संख्या पचास कर दी, फिर उत्तर प्रदेश में भी यही दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए। परेशान लोग और बैंक्वेट हाल संचालक दुविधा में हैं। दिल्ली एनसीआर में स्थिति यह है कि जिन्होंने शादियों की सारी तैयारियां पूरी कर ली थी वे भी परेशान हैं और जो अभी तैयारी कर रहे थे, वे भी आशंकाग्रस्त हैं कि आने वाले समय में क्या होगा। शादियों के लिए जिन्होंने मेहमानों की पूरी लिस्ट बना ली थी वे अब गुरुग्राम और फरीदाबाद का रुख कर रहे हैं। बैंक्वेट संचालकों, बैंडबाजे और शादी समारोह से जुड़े अन्य कारोबारियों से लोग संपर्क करके जानकारी ले रहे हैं। तमाम उथल-पुथल के बीच वेडिंग प्लानर्स नए तरीके भी तलाश रहे हैं।

शिफ्टों में बुलाए जा रहे हैं मेहमान: इस बदले माहौल का तोड़ निकालने में मेजबानों के साथ वेडिंग प्लानर भी जुट गए हैं। ऐसे में एक रास्ता यह निकला है कि दिन भर में तीन से चार शिफ्टों में पचास-पचास की संख्या में मेहमानों को बुलाया जाए। वेडिंग प्लानर रूही आजाद के मुताबिक दिल्ली के कई पंचतारा होटल इस तरह की व्यवस्था दे रहे हैं कि एक दिन के समारोह में अलग-अलग समय पर मेहमान बुलाए जा रहे हैं। एक ही वेन्यू पर अलग-अलग हिस्से

लोगों ने मेहमानों को आमंत्रित कर लिया है। इसलिए कई बड़े होटल बीच का रास्ता निकालते हुए एक ही वेन्यू को तीन से चार हिस्सों में विभाजित कर रहे हैं। इस तरह से एक जगह पर नियम से ज्यादा लोग एकत्र नहीं होंगे और मेहमान भी पूरे आ सकेंगे। बड़े होटलों के दूर-दूर के हिस्सों में पचास-पचास की संख्या में लोग शादी समारोह का आनंद ले सकेंगे।

आमंत्रित मेहमानों को अब अलग-अलग समारोह पर बुलाया जा रहा है। इसमें हल्दी, मेहंदी, संगीत और रिसेप्शन में अलग-अलग दिन अलग-अलग मेहमानों को आमंत्रित किया जा रहा है। इस तरह से मेहमान अच्छे तरीके से मैनेज भी हो जाएंगे और एक ही दिन अधिक मेहमानों को बुलाने का नियम भी नहीं टूटेगा। यह तरीका अधिकतर लोग अपना रहे हैं।